उजाला – कहानी

आज 3 नवम्बर, 2013 के पत्रिका न्यूजपेपर पर मेरे द्वारा लिखी गई एक कहानी ‘‘उजाला’’ शीर्षक से प्रकाशित हुई है। एक हकलाने वाले युवक के जीवन में यह दीपावली क्या सकारात्मक परिवर्तन का सन्देश लेकर आती है जानने के लिए पढि़ए यह कहानी।

http://epaper.patrika.com/180521/Patrika-Satna/03-11-2013#page/14/1

अमितसिंह कुशवाह,

सतना, मध्य प्रदेश (भारत) 

मोबाइल – 093009-39758
3 Comments

Comments are closed.

  1. Sachin 4 years ago

    Small but beautiful! A deep message…

  2. Sachin 4 years ago

    बहुत अच्छी कहानी लगी . धन्यवाद

  3. admin 4 years ago

    Excellant Amit ji. We need this urge. Keep the fire burning.

CONTACT US

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Sending

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account